top of page

Group

Public·14 members
Sujal Manandhar
Sujal Manandhar

Chessgamerulesinhindipdfdownload





शतरंज के नयम - Chess Rules in Hindi


शतरंज के नयम - Chess Rules in Hindi




शतरंज एक रणनत और बुद्ध क खेल है, जसे द खलड़यं के बच 64 खनं वले चकर बर्ड पर खेल जत है प्रत्येक खलड़ के पस 16 महरे हते हैं, जनमें से 8 प्यदे, 2 हथ, 2 घड़े, 2 ऊंट, 1 रन और 1 रज हते हैं महरं क प्रयग करके, खलड़ क मुख्य लक्ष्य है, समने वले के रज क मत (checkmate) देन है, अर्थत्, उसक स्थत क ऐस करन है, क वह कस प्रकर सुरक्षत नहं ह सकत


Download File: https://1niacutrempo.blogspot.com/?bf=2w3voV


शतरंज के मूल नयमं क पलन करन सरल है, परन्तु, महरथ (master) क स्तर पर पहुंचने के लए, कुछ सूक्ष्म (subtle) सद्धंतं (principles) और समस्यओं (problems) क समधन करन हत है


महरं क स्थत (Setup)




शतरंज क बर्ड 8x8 क हत है, जसमें 32 सफेद (light) और 32 कले (dark) समन-समन (alternating) खने हते हैं प्रत्येक महर (piece) क स्थत (position) पंक्त (row) और स्तंभ (column) के मेल से प्रकट (indicated) हत है पंक्तयं क 1 से 8 क्रम में संख्य (numbered) में, स्तंभं क a से h क्रम में, अक्षर (lettered) में, प्रकट (indicated) कय जत है


प्रत्येक महर (piece) क पहल स्थत (position) पहल पंक्त (row) में a1, b1, c1 ... h1; a2, b2 ... h2; a3 ... h3; a4 ... h4; a5 ... h5; a6 ... h6; a7 ... h7; a8 ... h8; हत है


शतरंज के बर्ड क ऐसे रख जत है, क प्रत्येक खलड़ के दएं हथ क सबसे नचल (lower-right) खन सफेद (light) ह प्रत्येक खलड़ के महरे उसक पहल (first) और दूसर (second) पंक्त (row) में हते हैं


प्रत्येक खलड़ के महरं क स्थत (position) नम्नलखत हत है:



  • रज (King): e1 (सफेद), e8 (कल)



  • रन (Queen): d1 (सफेद), d8 (कल)



  • हथ (Rook): a1, h1 (सफेद), a8, h8 (कल)



  • ऊंट (Bishop): c1, f1 (सफेद), c8, f8 (कल)



  • घड़ (Knight): b1, g1 (सफेद), b8, g8 (कल)



  • प्यद (Pawn): a2, b2 ... h2 (सफेद), a7, b7 ... h7 (कल)




महरं क चलें (Moves)




प्रत्येक महर क अपन-अपन चल हत है, जसके अनुसर, वह कस भ समय में, कस भ संख्य में, कस भ दश में, कस भ प्रकर से, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, कस भ प्रकर के, महर ह सकत है


नम्नलखत महरं के चलने के नयम हैं:



  • रज (King): रज सबसे महत्वपूर्ण महर है, परन्तु सबसे कमजर भ वह सर्फ एक ह समय में, सर्फ एक ह समय में, सर्फ एक ह समय में, सर्फ एक ह समय में, सर्फ एक ह खने में, कस भ दश में, चल सकत है रज क अपन सुरक्ष क ध्यन रखन हत है, क्यंक अगर वह मत (checkmate) ह जत है, त खेल खत्म ह जत है



  • रन (Queen): रन सबसे शक्तशल महर है, ज कस भ समय में, कस भ संख्य में, कस भ दश में, सधे (straight) य तरछे (diagonal) में, चल सकत है परन्तु, वह कस भ महरे क पर (over) नहं कर सकत है, अर्थत्, वह सर्फ खल (empty) य समने वले के महरे पर ह पहुंच सकत है



  • हथ (Rook): हथ कस भ समय में, कस भ संख्य में, सर्फ सधे (straight) में, पंक्त (row) य स्तंभ (column) में, चल सकत है परन्तु, वह कस भ महरे क पर (over) नहं कर सकत है



  • ऊंट (Bishop): ऊंट कस भ समय में, कस भ संख्य में, सर्फ तरछे (diagonal) में, पंक्त (row) और स्तंभ (column) के मेल (intersection) पर, चल सकत है परन्तु, वह कस भ महरे क पर (over) नहं कर सकत है



  • घड़ (Knight): तरछे (diagonal) में, एक खन समनंतर (perpendicular) में, चल सकत है प्यद कस भ महरे क पर (over) नहं कर सकत है, परन्तु, कस भ समय में, सर्फ एक ह समय में, सर्फ तरछे (diagonal) में, एक खन समनंतर (perpendicular) में, समने वले के महरे क मर (capture) सकत है




वशेष चलें (Special Moves)




शतरंज के कुछ वशेष चलें हैं, ज क नम्नलखत हैं:



  • शह (Check): जब कई महर समने वले के रज क हमल (attack) करत है, त उसे शह (check) कहते हैं शह में, समने वल क अपने रज क सुरक्षत (safe) करन हत है, ज क उसके पस तन (three) वकल्प (options) हते हैं: 1) अपने रज क कस और सुरक्षत (safe) खने में, 2) हमल (attack) करने वले महरे क मर (capture) करन, 3) हमल (attack) करने वले महरे के बच में कई महर (piece) रखन



  • मत (Checkmate): जब कई महर समने वले के रज क हमल (attack) करत है, और समने वल कई भ वकल्प (option) नहं हत है, त उसे मत (checkmate) कहते हैं मत में, खेल खत्म ह जत है, और हमल (attack) करने वल खलड़ जत (win) जत है



  • बदल (Castling): बदल एक वशेष प्रकर क चल है, ज क प्रत्येक खलड़ केवल एक ह बर में, कर सकत है बदल में, खलड़ अपने रज (king) और हथ (rook) क सथ-सथ, स्थनंतरत (switch) करत है परन्तु, बदल करने के लए, कुछ शर्तें (conditions) हत हैं: 1) रज (king) और हथ (rook) पहले से ह स्थनंतरत (switched) नहं हुए हं, 2) रज (king) कई महर पर (over) नहं करत ह, 3) रज (king) कई महर मर (capture) नहं करत ह, 4) रज (king) कई महर पर पहुंचने से पहले, सुरक्षत (safe) ह, 5) स्थनंतरत (switched) हने के पहले, पंक्त (row) में, कई महर (piece) नहं ह



  • प्रमशन (Promotion): प्रमशन में, प्यद (pawn) समने वले के आखर (last) पंक्त (row) में, पहुंचत है, त वह अपने आप क कस भ महरे (piece) में, बदल (change) सकत है, ज क रज (king) के अलव, कई भ ह सकत है प्रमशन में, प्यद (pawn) क अपन स्थत (position) में ह, रहन हत है, परन्तु, उसक पहचन (identity) बदल (change) ह जत है



एन पसंत (En passant): एन पसंत एक वशेष प्रकर क मर (capture) है, ज क प्यद (pawn) कर सकत है एन पसंत में, प्यद (pawn) समने वले के प्यदे (pawn) क मर (capture) सकत है, ज क उसके समकक्ष (adjacent) स्तंभ (column) में, पहल (first) बर में, द (two) खने में, चल ह परन्तु, एन पसंत करने के लए, प्यद (pawn) क सर्फ समकक्ष (adjacent) स्तंभ (column) में, समने


About

Welcome to the group! You can connect with other members, ge...

Members

bottom of page